Farzi App कर सकते है आपका Phone Hack

0
190

आप सभी ने डाटा चोरी होने की कई घटनाएं सुनिहि होगी और इसलिए आज सभी अपने पर्सनल मोबाइल डाटा से सतर्क हो रहे है। लेकिन अगर आप कोई थर्ड पार्टी एप्लीकेशन डाउनलोड करते वक़्त दुविद्या हो रही है की यह डाउनलोड करे या नहीं – तो आपको कुछ जरूरी जानकारी प्राप्त करनी होगी। आइये हम देखते है की ये दुविधा खत्म कैसे करे? किसी भी एप्लीकेशन को डाउनलोड करने से पहले हमे कुछ सामान्य बातो का ध्यान रखना होगा तो इन खतरों से बच सकते है।

एप के नाम को ठीक से पढ़े

कोई भी एप्लीकेशन को डाउनलोड करने से पहले उसके नाम को ध्यान से पढ़े। कई बार देखा गया है की फर्जी एप का नाम किसी बहुत प्रसिद्ध एप के नाम जैसा होगा। इसी एप के डौन्लोड करने पर आपके साथ धोखा हो सकता है। अगर फिर भी समज नहीं आ रहा तो नाम को लिखे गए डिज़ाइन और रंग को देखे। कई बार फर्जी एप और असली एप में बहुत छोटा सा अंतर होता है जैसे कैपिटल “आई” और “एल” में कोई फर्क नहीं रहता। और धोखा देने वाली एप ऐसा ही करती है।

एप के डेवलपर का नाम अवश्य पढ़े।

एक ही नाम के कई सारी एप प्ले स्टोर में मिलेगी। और अगर आप एप डाउनलोड करना चाहते हो तो सबसे बड़ी परेशानी होती है की कौन सी एप्लीकेशन असली है। इसलिए एप के डिस्क्रिप्शन में जाके डेवलपर का नाम पढ़े और फर्जी एप बनाने वाले को असली एप बनाने वाले दोनों की जांच करे। ज्यादातर आपको डेवलपर के नाम से पता चल जयेगा की वो एप फ़र्ज़ी है या असली। पर अगर ना पता चले तो और भी बातो का ध्यान दे।

रिव्यु और रेटिंग भी देखे।

प्ले स्टोर पर मौजूद ऍप्लिकेशन्स पर पब्लिक रेविएवस को देखिये – स्टोर पर कई उसेर्स अपना रिव्यु फीडबैक देते है उस एप के बारे में। आप जब भी कोई नई एप डाउनलोड करते है तो सबसे पहले फ़ीडबैक्स को पढ़े और उसका रेटिंग भी देखे। इससे भी आप धोखा खाने से बच सकते है।

अंततः आप धोखा खाने से बच सकते है अगर कुछ सामन्य बातो का ध्यान रखे। इसलिए 

“सतर्क रहे सुरक्षित रहे।”

READ  Youtube वीडियो को अब आप देख सकेंगे background में भी जाने कैसे?